नेता जी

चुनाव आने को लगभग 1 साल है और नेता जी ने अपना दिमाग लगाते हुए बहुत ही पहले इसकी तैयारी करनी शुरू कर दी है।

       अपने क्षेत्र के सभी घरों में या उसके आसपास के इलाकों में वह बारी बारी समय दे रहे हैं। लोगों से मेल जोल और बातचीत करने का ढंग कुछ ऐसा हुआ है कि लोगों में अब उन्हें बहुत कुछ अपनापन दिखाई दे रहा है।

       चुनाव के बहुत सारे मुद्दों में उन्होंने यह मुद्दा भी रखा है कि चुनाव में जीतने के बाद अपने क्षेत्र के सभी लोगों के लिए वह नौकरी की व्यवस्था करने की पूरी पूरी कोशिश करेंगे और उनकी यह कोशिश रहेगी कि क्षेत्र में कोई भी बिना नौकरी के ना रहे।

     लगभग 1 साल की मेहनत के बाद चुनाव का समय आया और इतने समय में नेताजी अपना प्रभाव इतना अच्छा बना चुके थे कि बहुत अच्छे मतदान के साथ बहुत ही वोटों के अंतर के साथ वह अपने प्रतिद्वंदी के साथ चुनाव को जीत गए।

      अपने चिर परिचित तरीके से उन्होंने अपने पूरे क्षेत्र का एक भ्रमण किया और हाथ जोड़ते हुए अपने सारे क्षेत्र के वासियों को धन्यवाद दिया।

      सभी लोग बहुत खुश हैं कि कम से कम अपने क्षेत्र में विकास होने वाला है चुनाव जीतने के कुछ समय बाद तक तो लोगों को लगा कि नेताजी से काफी व्यस्त है,इसलिए अब क्षेत्र में नहीं आ पा रहे हैं।

      लगभग 1 साल के उपरांत अब लोगों को महसूस होने लगा कि वह तो नेताजी की चुनाव जीतने की तरीका था जिसके लिए वह लोगों से मिलने आते थे और सचमुच वह सही कहते थे कि बेरोजगारी दूर कर देंगे।

       *सचमुच उन्होंने अपनी बेरोजगारी तो दूर कर ही ली है।*

नीरज त्यागी

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *