Posted in नई दिल्ली समाचार

‘स्‍वदेशी’ को बढ़ावा देने वाले रामदेव की पतंजलि में विदेशी कंपनी करेगी 3 हजार करोड़ रुपये का निवेश

योग गुरू बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि में फ्रांसीसी कंपनी LMVH मोनेट हेनेसी-लुई वयुईट्टन 500 मिलियन (करीब 3,250 करोड़ रुपए) का निवेश करने जा रही है। पतंजलि के प्रवक्ता एसके गुप्ता तिजारावाला ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी। उन्होंने लिखा कि फ्रांस के लग्जरी ग्रुप LMVH ने पतंजलि में 500…

Continue Reading...
Posted in राजनीति समाचार

डोनाल्ड ट्रंप बोले- भारत जैसे देश के साथ काम करना अच्छी बात, बुरी नहीं

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को कहा कि भारत, रूस और चीन जैसे देशों के साथ काम करना अच्छी बात है ना कि बुरी। वह रूस के साथ संबंध सुधारने की अपनी इच्छा को लेकर हो रही आलोचना पर प्रतिक्रिया दे रहे थे। उन्होंने नॉर्वे के प्रधानमंत्री एर्ना…

Continue Reading...
Posted in राजनीति समाचार

गैलप सर्वे: नरेंद्र मोदी दुनिया के तीसरे सबसे लोकप्रिय नेता, दर्जनों देशों के 53,769 लोगों की राय पर नतीजा

दावोस में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की मीटिंग से पहले सर्वे एजेंसी गैलप इंटरनेशनल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कद में इजाफा करते हुए उन्हें दुनिया का तीसरा सबसे लोकप्रिय नेता करार दिया है। दुनिया भर के अलग-अलग 50 देशों में कराए गए इस सर्वे में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मकरॉन…

Continue Reading...
Posted in कविता और कहानी

हिंदी भाषा उसकी उपभाषाएँ और सम्बंधित बोलियां – सुशील कुमार शर्मा

भाषा संचार की जटिल एवं विशिष्ट प्रणाली प्राप्त करने और उपयोग करने कीक्षमता है।भाषा भगवान का दिव्य उपहार है। भाषा मनुष्य के रूप को पशुओं को अलग करती है। जॉन स्टुअर्ट मिल ने कहा कि “भाषा मस्तिष्क का प्रकाश है” आज के युग में, एक या अधिक भाषा का बुनियादी…

Continue Reading...
Posted in कविता और कहानी

इतनी लम्बी उम्र मिली है , पर जीने का वक़्त नहीं – जय प्रकाश भाटिया

उम्र की सच्चाई इतनी लम्बी उम्र मिली है , पर जीने का वक़्त नहीं, रिश्तों की भरमार है पर रिश्तों का अस्तित्व नहीं , चेहरे पे मुस्कान सभी के, दिल में क्या है स्पष्ट नहीं, झूठी तारीफों के पुल पर , सच्चाई का वक्तव्य नहीं, जेब की दौलत लुटवाओ तो,…

Continue Reading...
Posted in कविता और कहानी

किसान असमंजस में – शिवांगी

भारत के विभिन्न राज्यो में किसान आंदोलन के बाद भी किसानो की परेशानियां ख़त्म होती नही दिख रही हैं।हजारों रुपयो का प्रीमियम भरने के बाद भी किसानो को मुआवज़ा नही मिल रहा है।यहाँ किसानो का कई करोड़ का बीमा अटका हुआ है और सरकार की ओर से अभी तक कोई…

Continue Reading...
Posted in Uncategorized

हर वक्त बस उनका ही ख्याल आया-ग़ज़ल

दूर हूँ उनसे बहुत, इत्ती बात पर भी, नहीं कभी कोई मलाल आया। हर वक्त उनकी याद रही, हर वक्त बस उनका ही ख्याल आया।। उदास पतझड़ भी कुछेक पेड़ों पर कोई-कोई कोलम-सी पत्ती ले आया। पहुँचे जब हम, उनकी गलियों में, चेहरे पर उनके गुलाल उभर आया।। सवाल कोई…

Continue Reading...
Posted in कविता और कहानी

मध्यम कौन?

“मध्यमवर्ग” मध्यम कौन? जो बीच का हो ! या यूँ कहें दुल्हा दुल्हीन के बीच लोकनियाँ है ! समस्याँ मध्यवर्ग की सोच में नहीं उसकी सदियों से वटवृक्ष के समान फैली साखाओं में है जो जड़ कर चुकी! अंदर ही अंदर स्तंभ बनकर! वैसे ही मध्यमवर्ग कभी जरूरतों से आगे…

Continue Reading...
Posted in कविता और कहानी

उम्मीद कभी न छोड़ना ( किरण चावला )

उम्मीद कभी न छोड़ना । अगर कश्ती भी डूब जाती है। कुछ तो बिखरता ही है । जब आँधियाँ निरतंर आती हैं । बंदे तू मुक़ाबला कर । अपनी हिम्मत और आस से । कभी भी न डगमगाना । खुद पर अपने विश्वास से । ( किरण चावला )

Continue Reading...
Posted in कविता और कहानी

एक प्रधान मंत्री ऐसा भी (नरेंद्र दामोदर दास मोदी )

एक प्रधान मंत्री ऐसा भी (नरेंद्र दामोदर दास मोदी ) एक महान शक्सियत जिसकी हूँ, मैं भक्त जिसने मिसाल करी कायम चाय बेचने से लेकर प्रधान मंत्री बनने का रखना दम, जिसे विवेकानंद जी की किताबों ने दी प्रेरणा , पिलू फूल जैसे नाटक की नहीं की जा सकती कल्पना…

Continue Reading...