Posted in Uncategorized कविता और कहानी

गीत

धरती पुलकित हो उठे आज जन- जन का दुख हरना होगा इस कर्म- भूमि में असुरों से फिर धर्म- युद्ध करना होगा

Continue Reading...
Posted in Uncategorized

जानिए भारतीय वायुसेना के मिराज-2000 विमान के बारे में सब कुछ, जिससे पीओके में की गई बमबारी

भारतीय वायुसेना ने आज तड़के पाक अधिकृत कश्मीर में जैश के ठिकानों पर जमकर बमबारी की। इस दौरान कई आतंकी कैंप के नष्ट होने की खबर है। भारतीय वायुसेना के 12 मिराज-2000 विमानों के समूह ने जैश के कैंप पर 1000 किलग्राम के बम गिराए। इस हमले के लिए एयरफोर्स…

Continue Reading...
Posted in Uncategorized

दो दशक बाद फिर राष्ट्रवाद के साये में होगा आम चुनाव, 1999 में वाजपेयी ने बचा ली थी सरकार

दो दशक बाद जल्द होने वाला आम चुनाव राष्ट्रवाद के साये में होगा। पुलवामा हमला मामले में पाकिस्तान के खिलाफ जवाबी कार्रवाई के तहत भारतीय वायु सेना के सर्जिकल 2 को अंजाम देने के बाद भाजपा गदगद है। पार्टी को उम्मीद है कि इस कार्रवाई से वर्ष 1999 में कारगिल…

Continue Reading...
Posted in कविता और कहानी

सेना के जांवाज जवानों को हिंदुस्तान कर रहा सलाम

सेना के जांवाज जवानों को हिंदुस्तान कर रहा सलाम,जैश-ए-मोहम्मद के अड्डों को  बना  दिया जो श्मशान. पाकअधिकृत कश्मीर पर बड़ा भयंकर विस्फोट हुआ,पुलवामा  के  हमले  का  सैनिकों  ने  प्रतिशोध  लिया.भगवान बुद्ध  की  शांत  धरती में माँ दुर्गा की शक्ति है,समय आने पर  दुर्जनों  का जो  सर्वनाश  कर देती है. पाकिस्तान कुकृत्यों का…

Continue Reading...
Posted in Special Article समाचार

वायु सेना के वीरों ने लिया पुलवामा का बदला

वायु सेना के वीरों ने , PoK में गिराए बम जैश के आतंकी और ट्रेनर ढेर नई दिल्ली: भारत ने पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से ही पूरे देश में गुस्से का माहौल था, देशवासियों में क्या नेता, क्या अभिनेता, समाजसेवियों , सभी का एक सुर था, इसका…

Continue Reading...
Posted in कविता और कहानी

अमर शहीदों की कुर्बानी को

अमर शहीदों की  कुर्बानी को,संपूर्ण  भारत  नमन  कर रहा.प्रत्येक भारतीय की आँखों से,अक्ष्रु कीअविरल धार छलका.नमन  करें  हम  उन दोनों को,जिनके सपूत  है  अमर शहीद.नमन  करें  उस  सुहागन  को, जिनके  सुहाग  का हिंद मुरीद.नमन  करें  हम  उस  भाई को,जिनका  हाथ  ने  छोड़ा  साथ. नमन करें  हम उस  बहना को,जिनकोअपनी राखी पर नाज. सारा …

Continue Reading...
Posted in कविता और कहानी

ग़ज़ल

अशोक मिज़ाज ‘बद्र’ ख़ुशी या रंज का लश्कर भी साथ लाती है। मोहब्बत अपना मुक़द्दर भी साथ लाती है। तुम्हारी याद अकेले कभी नहीं आती, जब आती है तो समन्दर भी साथ लाती है। ये बात भूल गया था मैं कुछ घड़ी के लिए, कि ये बहार तो पतझर भी…

Continue Reading...
Posted in सभी रचनायें

लाल घर आया तेरा

माँ मैं तुमसे सत्य कहा था माँ मैं जब भी लौटूंगा, लिपट तिरंगा में आऊंगा; होंगे सजे वीरत्व ध्वज केशर अल्पना सजेंगे गौरवपथ मेरे बलिवेदीमाटी के चन्दन! ✴✴✴ माँ मैं तुमसे सत्य कहा था एकदिन वीरगति को पाऊँगा, भारत माँ के काम आऊंगा ; दुश्मन दलन सीमा पर कर मैं…

Continue Reading...
Posted in कविता और कहानी

प्यारी सखि दिदिया

नमस्कार   दी आप बहुत कम समय के लिए आईं इस बार , फिर भी बहुत अच्छा लगा आशा है अब तक आप की थकन उतर गई होगी ।        दी आप जानती हो ना प्रवास को उनकी माता जी काफी आयु की थी , स्वस्थ भी थी दो…

Continue Reading...
Posted in Special Article कविता और कहानी

साहित्य निष्प्राण हो जाएगा अगर जन सरोकार से दूर किया गया

 डॉ. अवधेश कुमार ‘अवध’साहित्य को समाज का दर्पण होना चाहिए अर्थात् समाज के चेहरे को हूबहू दिखाने के सामर्थ्य से सम्पन्न। सिर्फ इतना ही नहीं अपितु समाज को उन्नतशील और नवीन राह देना भी साहित्य का दायित्व है। इसलिए एक साहित्यकार को ग्राह्य हृदयी होने के साथ – साथ दूरदर्शी…

Continue Reading...